गब्बर और सांभा के घर की तलाशी

गब्बर और सांभा के ब्लाग-अड्डे पर पुलिस ने छापा मार दिया और सारा अड्डा उल्टा पुल्टा कर डाला.
इन दोनों पर आरोप है कि इन्होने सारी की सारी टिप्प्णियों को टिप्पणी बैंक से उडा डाला.

जनता के खास दबाव पर ब्लाग पुलिस सक्रिय हो गई और छापामारी की कार्यवाही चालू हुई.
गब्बर और सांभा अड्डा छोडकर जंगल की तरफ़ पलायन कर गये हैं.

शेष अगली किस्त मे पढियेगा..........

10 comments:

jayanti jain said...

interesting dacotiy

lalit sharma said...

ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं, लेखन कार्य के लिए बधाई
यहाँ भी आयें आपके कदमो की आहट इंतजार हैं,
http://lalitdotcom.blogspot.com
http://lalitvani.blogspot.com
http://shilpkarkemukhse.blogspot.com
http://ekloharki.blogspot.com
http://adahakegoth.blogspot.com
http://www.gurturgoth.com
http://arambh.blogspot.com

Amit K Sagar said...

चिट्ठा जगत में आपका हार्दिक स्वागत है. सतत लेखन के लिए शुभकामनाएं. जारी रहें.

---
Till 30-09-09 लेखक / लेखिका के रूप में ज्वाइन [उल्टा तीर] - होने वाली एक क्रान्ति!

रचना गौड़ ’भारती’ said...

चिट्ठा जगत में आपका हार्दिक स्वागत है. सतत लेखन के लिए शुभकामनाएं. मेरे ब्लोग पर आपका इंतजार है।

हितेंद्र कुमार गुप्ता said...

Bahut Barhia... aapka swagat hai... isi tarah likhte rahiye...

thanx
http://mithilanews.com



Please Visit:-
http://hellomithilaa.blogspot.com
Mithilak Gap...Maithili Me

http://mastgaane.blogspot.com
Manpasand Gaane

http://muskuraahat.blogspot.com
Aapke Bheje Photo

नारदमुनि said...

agli kisht padhenge.narayan narayan

चंदन कुमार झा said...

बढ़िया है ।
चिट्ठाजगत में आपका स्वागत है.......भविष्य के लिये ढेर सारी शुभकामनायें.

गुलमोहर का फूल

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

माजरा कुछ समझ में नहीं आया. ये ताऊ का ब्लाग है कि किसी ओर का??
खैर आप जो भी हों, शुभकामनाऎं तो आपको दे ही देते हैं.......
शुभकामनाऎँ...

क्रिएटिव मंच said...

आपका स्वागत है
आपको पढ़कर अच्छा लगा
शुभकामनाएं


*********************************
प्रत्येक बुधवार सुबह 9.00 बजे बनिए
चैम्पियन C.M. Quiz में |
प्रत्येक रविवार सुबह 9.00 बजे शामिल
होईये ठहाका एक्सप्रेस में |
प्रत्येक शुक्रवार सुबह 9.00 बजे पढिये
साहित्यिक उत्कृष्ट रचनाएं
*********************************
क्रियेटिव मंच

Dr. Jitendra Bagria said...

niceeeee